नहीं चेते तो हो सकता है बड़ा नुकसान, प्रदूषण का कहर ले लेगा जान



सरधना के केके पब्लिक स्कूल में पर्यावरण धर्म समिति के तत्वधान में बिलखते शहर प्रदूषण का कहर विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन गोष्ठी की अध्यक्षता के के पब्लिक स्कूल के प्रबंधक सुशील कुमार ने की। कार्यक्रम के  प्रारंभ में के के पब्लिक स्कूल के छात्राओं ने  स्वागत गीत गाकर सभी अतिथियों का स्वागत किया तदुपरांत  मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर  कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।गोष्टी में मुख्य अतिथि के तौर पर आए अपर जिला अधिकारी सुभाष चंद्र प्रजापति ने  अपने संबोधन में कहा कि प्रदूषण आज अपना विकराल रूप धारण कर चुका है। प्रदूषण से  आज हमारा जीवन सीधे-सीधे प्रभावित हो रहा है तथा गंभीर चिंता का विषय बन चुका है। पर्यावरण प्रदूषण के कारण आज हम गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं हर तीसरा व्यक्ति सांस,  दम्मा,या फेफड़ों, की बीमारी से जूझ रहा है उन्होंने कहा कि यह गंभीर स्थिति हमने खुद ही पैदा की है। हमारी जीवन शैली इतनी खर्चीली हो गई है कि हमने उपभोग को ही जीवन समझ लिया है। जबकि हमारी संस्कृति ,सादा जीवन उच्च विचार, पर आधारित है।  विशिष्ट अतिथि के तौर पर कार्यक्रम में आए नगर के प्रिय बन चुके उप जिलाधिकारी अमित भारतीय ने कहां की वनों का हो रहा अत्याधिक कटान और उसकी अपेक्षा में कम पेड़ लगाए जाने के कारण ही पर्यावरण चिंता का विषय बन चुका है। जो पर्यावरण प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण है। जिसकी भरपाई हमें कटान की अपेक्षा अत्याधिक वृक्ष लगाकर करनी होगी।तथा उन्होंने सुझाव दिया के प्रत्येक व्यक्ति हर महा कम से कम 2 पेड़ लगाने का लक्ष्य रखें तो सभी के लिए लाभदायक सिद्ध होगा। पर्यावरण धर्म समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जितेंद्र पांचाल ने भी अपने संबोधन में कहा कि उपभोग वादी संस्कृति मानव सभ्यता के विनाश का कारण बनती नजर आ रही है यदि हमें आने वाली पीढ़ी को इस संकट से बचाना है तो प्राकृतिक संसाधनों का दुरुपयोग रोकना होगा प्रदूषण के कारण ,,शहर बिलख रहे हैं,, देखा जा रहा है कि समर वेकेशन और विंटर वेकेशन के साथ-साथ पॉल्यूशन वेकेशन भी स्कूलों में होने लगी है। संचालन की जिम्मेदारी संभाल रहे शिक्षक नेता दीपक शर्मा ने कहा कि, अगर आज हम नहीं समझे तो आने वाली पीढ़ी का विनाश तय हे। क्योंकि आज व्यक्ति इतना स्वार्थी हो चुका है कि वह अपने स्वार्थ के लिए किसी भी नुकसान को नहीं देख पा रहा है। ,,उजड़ते जंगल बसते शहर पर्यावरण को और बढ़ावा दे रहे हैं। कार्यक्रम संयोजक शावेज अंसारी ने भी अपने विचारों से सभी को अवगत कराया तथा बढ़ते प्रदूषण पर चिंता व्यक्त की कार्यक्रम के इस अवसर पर अधिशासी अधिकारी नगर पालिका अमिता वरूण पर्यावरण धर्म समिति के प्रवक्ता रिहान मलिक पश्चिम उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल के अध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी मनमोहन त्यागी संजीव जैन आदि वक्ताओं ने भी अपने विचार रखे। पर्यावरण संरक्षण के इस अभियान में शामिल होने का सभी से आह्वान किया तथा भविष्य में भी इस अभियान में सभी से सहयोग की अपील की इस अवसर पर मिर्जा मोहम्मद इस्माइल, डीके चौधरी ,मनमोहन त्यागी, सुशील खानपुर,चौधरी चरण सिंह,जीशान कुरैशी,समर कुरैशी, आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।


अहमद हुसैन
true story


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद