कांग्रेस के लिए कितनी मुफीद होगी हरेंद्र-जुनैद की जोडी

 


मुज़फ्फरनगर। सूबे में लगातार गर्त में जा रही कांग्रेस को संकट से उबारने के लिए टीम प्रियंका जुटी है। इसी लक्ष्य को आगे बढ़ाते हुए हाई कमान ने जातिगत संतुलन को साधते हुए जिलाध्यक्ष पद पर हरेंद्र त्यागी व नगर अध्यक्ष पद पर जुनैद रउफ को तैनात करके संदेश दिया कि पार्टी अब यूथ के सहारे सत्ता में वापस लौटने के प्रयास में जुट गई है।इससे पहले प्रदेश की जम्बो कमेटी के स्थान पर 41 लोगो को पूरी कमान सौंपी जा चुकी है। जिसमे मुज़फ्फरनगर के पूर्व मंत्री दीपक कुमार व पूर्व विधायक पंकज मलिक को प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया था। 



हाई कमान की और से जारी हुई नई सूची में 2 युवा नेताओ को जिम्मेदारी सौंपा जाना भी कही न कही साबित कर रहा है कि पार्टी युवाओं के बूते हर बूथ तक पकड़ बनाएगी। पिछले 25 सालों में पार्टी का प्रदर्शन हर इलेक्शन में खराब रहा। यहां तक कि वेस्ट यूपी में तो पार्टी प्रत्याशियों को जमानत बचाने के भी लाले पड़ गए थे। अब कांग्रेस देश एवं प्रदेश में सत्ताधारी पार्टी भाजपा को घेरेगी। अब तक संगठन में बुजुर्गों की टीम थी जिसकी वजह से कोई भी आंदोलन होने से पहले ही फ्लॉप हो जाता है। मगर अब टीम प्रियंका के आने से कार्यकर्ताओ में जोश है। प्रदेश कांग्रेस के सदर एवम विधायक अजय लल्लू भी सामान्य पृष्ट भूमि से है, मजदूर से विधायक बने अजय लल्लू को पार्टी ने प्रदेश की कमान देकर जमीनी लोगो को जोड़ा। इस बार मठाधीशों की छुट्टी कर दी गई। हालांकि बाद में कुछ वरिष्ठ नेताओं को मार्गदर्शक मंडल में शामिल कर संदेश दिया गया कि पार्टी हर नेता व कार्यकर्ता का सम्मान कर रही है।