सभासदों ने पालिका पर लगाया घोटाले का आरोप,अधिशासी अधिकारी ने किया खंडन

अहमद हुसैन


सरधना नगर पालिका परिषद के कुछ सभासदों ने नगर पालिका प्रशासन की अधिशासी अधिकारी से ही शिकायत करते हुए शिकायती पत्र सौंपा है जिसमें कहा गया है कि कोरोनावायरस को मद्देनजर रखते हुए पालिका परिषद के कुछ सदस्यों ने एक प्रस्ताव नगर पालिका में दिया था जिसमें कहां गया था कि ₹500000 पालिका के फंड से निकाले जाएं तथा जरूरतमंद जनता को राशन का वितरण उन पैसों से किया जाए शिकायती पत्र में कहा गया है कि जरूरतमंद लोगों की सूची भी पालिका को सौंप दी गई है जिसकी जांच भी पालिका कर्मचारियों द्वारा की जा चुकी है जिनको राहत सामग्री दी जानी है परंतु पालिका द्वारा कराई गई उन गरीबों की जांच का कोई औचित्य नहीं है लगता है के उन जरूरतमंद गरीब लोगों का पालिका अपमान कर रही है पत्र में लिखा  है कि अधिशासी अधिकारी सरधना वे कर्मचारी गण लॉक टाउन के दौरान मिलकर राशन तथा दवाई खरीद में में बड़ा घोटाला कर रहे हैं लेकिन नगर में किसी भी जरूरतमंद को उसका लाभ नहीं पहुंचाया जा रहा है सभासदों का कहना था के सभासदों द्वारा पारित ₹5 लाख तुरंत ही फंड से निकाले जाएं तथा उनका इस्तेमाल गरीब लोगों को राशन तथा दवाइयां पहुंचाने में किया जाए इस संबंध में जब नगर पालिका अधिशासी अधिकारी अमिता वरुण से बात की गई तो उन्होंने कहा  सभासदों को कोई अधिकार नहीं है कि वह खुद ही कोई फैसला लें जहां तक ₹5 लाख फंड से दिए जाने का मामला है तो वह जब तक बोर्ड तथा पालिका अध्यक्ष द्वारा स्वीकृत नहीं होगा जब तक किसी तरह के फंड निकाले जाने का कोई भी प्रावधान नहीं है ।साथ ही उन्होंने बताया कि अब तक जो भी राहत सामग्री गरीबों तक पहुंचाई गई है वह पालिका फंड से नहीं बल्कि पालिका की अध्यक्षा तथा पालिका के अन्य कर्मचारियों द्वारा  किए गए एकत्र धन से की गई है  ।जहां तक सवाल है  रसोई का  तो वह भी  बिल्कुल साफ सुथरा  काम है रसोई में  बनाए जा रहे  खाने से  प्रत्येक दिन  जैन कॉलेज में  क्वॉरेंटाइन हुए  लोगों को खाना खिलाया जाता है  तथा  बीस से  30  पैकेट उन लोगों के घर तक पहुंचाए जाते हैं जो फोन करके  पालिक को कहते हैं  उनको भी  बगैर  किसी  तस्दीक के नहीं  बल्कि  पहले जांच कराई जाती है उसके बाद खाना भेजा जाता है साथ ही उन्होंने कहा कि सभासदों द्वारा लगाए जा रहे सभी आरोप निराधार हैं। शिकायत करने वालों सभासदों में शाकिर अंसारी, रईस उद्दीन उर्फ मुन्ना, आसमीन,  तारिक हसन, शाहरुख तथा दिलशाद आदि रहे।
 -----
अहमद हुसैन
True story


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

चाऊमीन खिलाने के बहाने घर से बुलाकर ले गए युवक की दोस्तों ने ही सिर में गोली मारकर हत्या