श्रीराम कॉलिज ऑफ लॉ के छात्रों ने दी अदालत में दस्तक

 श्रीराम काॅलेज आफ लाॅ के विधि संकाय के विद्यार्थियों को न्यायालयों के वास्तविक कार्य का ज्ञान प्रदान करने के उद्देश्य से न्यायालय भ्रमण का आयोजन किया गया। एलएलबी एवं बीएएलएलबी के छात्रा-छात्रायें न्यायालय भ्रमण के लिए बडी संख्या में महाविद्यालय में उपस्थित हुये। यहां श्री राम कालेज आफ लाॅ के प्राचार्य रविन्द्र प्रताप सिंह ने जिला न्यायालय में जाने के लिए प्रवक्ता सोनिया गौड़ एवं राखी ढिलोर के नेतृत्व में टीम गठित की, जिसमें छात्रा-छात्रायें जिला न्यायालय पहुंचे। सबसे पहले सभी छात्रा-छात्राऐं वरिष्ठ अधिवक्तागणों के चैम्बर्स में गये, वहां उपस्थित निपुण जैन तथा आजम जैदी एडवोकेट ने उन्हें कानून की बारीकियों को बताया और सिटी मजिस्ट्रेट, एसडीएम, जिला मजिस्ट्रेट, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, सिविल जज एवं जिला जज की अदालत की कार्यवाही एवं रिकाॅर्ड रूम को दिखाया।विद्यार्थियों ने देखा कि किस प्रकार वादकारी अपने से सम्बन्धित वाद के विषय में जानकारी प्राप्त कर हेल्प डैस्क के निर्देशानुसार न्यायिक पीठ के समक्ष उपस्थित हो रहे है। कई अस्थायी न्याय पीठ भी बनायी गयी थी, जिसमें वादी उपस्थित होकर अपना पफाईल नम्बर बताकर सरलता से अपना वाद निपटा सकते है। बिजेन्द्र मलिक सचिव, सिविल बार एसोसिएशन ने कहा कि समय-समय पर छात्रा-छात्राओं को न्यायालय परिसर में आकर अदालत की कार्यवाही देखने व अधिवक्ताओं के चैम्बर में आकर वादों के विचारण सम्बन्धी   जानकारी प्राप्त करनी चाहिए, जिससे विद्यार्थी भविष्य में कुशल विधि विशेषज्ञ बन सके। प्रवक्ता निपुण जैन एडवोकेट ने बताया कि लोक अदालत के द्वारा हजारों   मुकदमें जो लम्बित है, उनका निपटारा कर दिया जाता है, जिससे समय एवं धन दोनों की बचत होती है। प्रवक्ता सोनिया गौड ने कहा कि लोक अदालत में छोटे अपराध तथा समझौते वाले सिविल मामलो का निपटारा हो जाता है। प्रवक्ता राखी ढिलोर ने बताया कि सभी छात्रा-छात्राओं को समय-समय पर लोक अदालत, विधिक साक्षरता सेमिनार में अवश्य उपस्थित होना चाहिए, जिससे भविष्य में वे समाज को एक नई दिशा दे सकें।


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

शादी में दिखावे की हदे पार, लड़की पक्ष ने विवाह स्थल पर लगवाया फ्लैस्क, लिखा :- गाडी के साढे 7 लाख नकद दिए दूल्हे को