>जवाहर नवोदय विद्यालय में औचक निरीक्षण पर पहुंचे कलक्टर


अपनी कुशल कार्यशैली के लिए प्रसिद्ध जिलाधिकारी मेरठ अनिल धींगरा ने किया
सरधना जवाहर नवोदय विद्यालय का औचक निरीक्षण  खामियां  मिलने पर क्या नाराजगी का इजहार
सभी खामियों को एक सप्ताह में ठीक किए जाने के लिए दिशानिर्देश
 सरधना के गांव नवाबगढ़ी स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय का जिलाधिकारी ने औचक निरीक्षण किया। जिसमें विभिन्न प्रकार की खामियां सामने आयी। जिला अधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी खामियों को तुरंत दुरुस्त करने का फरमान सुनाया। 
बुधवार की सुबह अचानक जवाहर नवोदय विद्यालय पहुंचे जिला अधिकारी अनिल धींगरा को देख वहां हड़कंप मच गया। निरीक्षण के दौरान  उपप्रधानाचार्य प्रहलाद सिंह चौहान ने बताया कि प्रधानाचार्य जेपी जैन 8 दिसंबर तक अवकाश पर है। जिलाधिकारी ने विद्यालय परिसर में बनी सड़कों का हाल देख नाराजगी व्यक्त की वहां की सभी सड़कें क्षतिग्रस्त मिली। जिन्हें तत्काल मरम्मत कराए जाने को कहा गया। विद्यालय में प्रधानाचार्य सहित कुल 42 शिक्षक कार्यरत हैं। सभी अध्यापकों के बारे में जानकारी ली गई। विद्यालय परिसर में बने आवासों में निवास करने वालों की जानकारी ली गई। विद्यालय में अस्थाई कर्मचारियों में 2 सफाई कर्मचारी एक माली एक चौकीदार एक इलेक्ट्रिशियन तथा 10 श्रमिक कार्यरत है। जिलाधिकारी ने सरधना पुलिस क्षेत्राधिकारी पंकज कुमार सिंह को निर्देशित किया कि वह विद्यालय में कार्य करने वाले सभी अस्थाई कर्मचारियों का अपने स्तर पर सत्यापन कराये। विद्यालय की कक्षा 8 कक्षा 7 कक्षा 11 कक्षा 12 विज्ञान वर्ग कक्षा 12 कॉमर्स वर्ग तथा कक्षा 11 की स्मार्ट क्लास का निरीक्षण किया गया तथा छात्र-छात्राओं की संख्याओं के बारे में जानकारी ली। सभी छात्राओं से श्रीमती अदिति शर्मा प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी प्रभाग मेरठ तथा श्रीमती सीमा भारती नायब तहसीलदार सरधना द्वारा अलग से वार्ता कर उनकी समस्याओं के संबंध में जानकारी की गई। बालिकाओं के चार हॉस्टल में से तीन हॉस्टल में ही नहाने हेतु गर्म पानी के गीजर की सुविधा उपलब्ध मिली जिसके बाद  निर्देशित किया गया कि वह सभी हॉस्टल में नहाने के लिए गर्म पानी के गीजर की व्यवस्था करें तथा आवश्यकता होने पर नियमानुसार अनुमति प्राप्त करके समाधान किया जाये। छात्रों द्वारा अवगत कराया गया कि खेल का मैदान समतल नहीं है हैंडबॉल के पोस्ट टूटे हुए है खेल के लिए सामान तथा बैडमिंटन हैंडबॉल बॉस्केटबॉल आवश्यकतानुसार उपलब्ध नहीं कराया जाता है बॉस्केटबॉल कोट के पास सीवर का ढक्कन फटा हुआ है बाहर के बच्चे खेल के मैदान में आ जाते हैं तथा नवोदय विद्यालय के बच्चों को खेलने के लिए मैदान खाली नहीं मिलता। बच्चो की उक्त समस्याओं को जान ने के बाद डीएम ने पुलिस अधिकारी को निर्देशित किया  कि वह विद्यालय परिसर खेल के मैदान में बाहरी युवको के प्रवेश पर प्रतिबंध का कड़ाई से अनुपालन कराया जाएं प्रधानाचार्य कक्ष के सामने स्थित बालक एवं बालिका शौचालय का मौके पर निरीक्षण किया गया शौचालय एवं विद्यालय परिसर में सफाई व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता बताई। उप प्रधानाचार्य ने बताया कि अस्थाई सफाई कर्मचारियों के माध्यम से सफाई कराई जा रही है निर्देश दिए गए कि यदि विद्यालय बालक बालिकाओं के हॉस्टल में पर्याप्त सफाई व्यवस्था के लिए और सफाई कर्मचारी की आवश्यकता है तो व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए। कार्यालय में स्वच्छ पेयजल के लिए आरओ सिस्टम लगा हुआ है जो क्रियाशील नहीं है। उप प्रधानाचार्य को निर्देशित किया गया कि कार्यालय तथा हॉस्टल में पेयजल हेतु आरओ सिस्टम को क्रियाशील कराया जाए। उप प्रधानाचार्य को निर्देशित किया गया कि निरीक्षण में इंगित की गई उपरोक्त सभी कमियों का आगामी एक सप्ताह में निराकरण कराया जाना सुनिश्चित करें। इस दौरान उपजिलाधिकारी अमित कुमार भारतीय थाना प्रभारी उपेन्द्र कुमार मालिक भी मौजूद रहे।


अहमद हुसैन
True story


Popular posts from this blog

गोरखपुर के कलक्टर विजय किरण आनंद व SSP पर NHRC में केस दर्ज

सिटी सेंटर में हुई लाखो की चोरी का खुलासा, महिला सहित 5 अरेस्ट, 31 मोबाइल व नकदी बरामद

सिटी सेंटर में 5 दुकानों के शटर फाड़कर लाखो की चोरी, CC कैमरे में कैद हुए बदमाश