जरा सी सतर्कता से मधुमेह से बचा जा सकता है :- डा.बंसल ० विश्व मधुमेह दिवस पर जिला अस्पताल समेत सीएचसी व पीएचसी में लगे हेल्थ चेकअप कैंप, लोगों को किया गया जागरूक



 मेरठ।{sanjay Verna} विश्व मधुमेह दिवस पर गुरुवार को मेरठ में स्वास्थ्य विभाग की ओर से जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। इसके तहत जिला अस्पतालए मेडिकल कालेज .सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर हेल्थ चेकअप कैंप लगा कर लोगों की मधुमेह की जांच की गयी. साथ ही लोगों को मधुमेह के प्रति जागरूक किया गया। जिला अस्पताल में मधुमेह जागरूकता हस्ताक्षर अभियान चलाया गया, जिसमें लोगों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।
  जिला अस्पताल में लगाये गये कैंप का शुभारंभ करते हुए डा पी के बसंल व जिला महिला अस्पताल की प्रमुख अधीक्षक डाण् मनीषा वर्मा ने बताया हर वर्ष 14 नवम्बर को विश्व मधुमेह दिवस मनाया जाता है। सन् 1991 में अंतरराष्ट्रीय मधुमेह संघ और विश्व स्वास्थ्य संगठन की पहल पर 160 से अधिक देशों में मधुमेह दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम है ष्द फैमिली एंड डायबिटीजष्। उन्होंने कैंप में आये लोगों से कहा कि मधुमेह के मरीजों के लिए संयम और सतर्कता जरूरी है। दवा के नियमति सेवनए खून में शुगर की नियमित निगरानीए सही आहार व नियमित व्यायाम से इस बीमारी को नियंत्रित किया जा सकता है। इस दौरान कैंप में आये लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इसके अतिरिक्त सामुदायिक केन्द्र दौराला, खरखौदा, जानी, सरूरपुर, मवाना, हस्तिनापुर, रोहटा व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों लावड, अब्दुल्लापुर, पूर्वा महावीर, मलियाना, लल्लापुरा, मकबरा डिग्गी, पर हेल्थ चेकअप कैंप लगाए गये। इसमें 367 लोगों के मधुमेह की जांच की गयी। बीमारी को लेकर उनकी काउंसलिंग की गयी और जरूरत के हिसाब से उन्हें दवा उपलब्ध करायी गयी। उन्होंने कहा कि मधुमेह दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक करना है। सीएमओ कार्यालय में विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर ग्लोबल डायबिटिज वॉक  व हस्ताक्षर अभियान मुख्य अतिथि अंतराष्ट्रीय कुश्ती खिलाडी अलका तोमर व बाक्सर वर्षा चौधरी जागरूकता रैली का हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। वॅाक में एनएएस इंटर कालेज के छात्र छात्राए व एनसीसी कैडेट बच्चों , डा रेनू सिंघल अपर निदेशक, डा मनीषा वर्मा ,सीएमओ डा राजकुमार इस मौके पर मौजूद रहे। जागरूकता रैली सीएमओ कार्यालय से होती हुई कैलाश प्रकाश स्पोर्टस स्टेडियम होते हुए एमडीए होती हुई सीएमओ कार्यालय पर समाप्त हुई। वही मेरठ सिटी स्टेशन पर जनजागरूक्ता कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें २० महिलाओ ६० पुरूष का नि:शुल्क डायबिटिज व उच्च रक्तचाप क ी जांच पडताल की गयी। जिसमें महिलाओं की अपेक्षा पुरूषों का डायबिटीज अधिक रहा। इस मौके पर मधूमेह के हानिकारक प्रभाव, उपचार ,परहेज, व दैनिक दिनचर्या  में सुधार करने के बारे में बताया गया। 
इन कारणों से होता मधुमेह
 1.जब किसी व्यक्ति के शरीर में इंसुलिन बनना बंद हो जाती है।
 2. जब व्यक्ति के शरीर की कोशिकाएं बन रही इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं करतीं।
ये है बीमारी के लक्षण
मधुमेह के मरीजों को भूख-प्यास अधिक लगनाए अचानक वजन कम होना, धुंधला दिखना, बार-बार पेशाब लगना, सांस फूलना, जल्दी थकान महसूस होना, शरीर में खुजली होना, किसी भी घाव को ठीक होने में जरूरत से ज्यादा समय लगना।