डब्यूएचओ की टीम ने स्वास्थ्य सुविधाओं को परखा, डिप्थीरिया के  33 मरीज मिलने पर जताई चिंता


मेरठ । sanjay varma.डब्लयूएचओ की टीम ने१५ से १९ तक जिले की स्वास्थ्य सुविधाओं को परखा और जरूरी हिदायते दी। टीम पोलियो व डिप्थीरिया की जांच करने के लिये आयी थी। जिले में ३३ मरीज डिप्थीरिया के मिलने पर  टीम ने जिले की स्वास्थ्य सेवाओं को परखा है। जिले में डिप्थीरिया के ३३ मरीज मिलने पर टीम के सदस्यों ने चिंता जताई है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से पोलियों के अभियान में तेजी लाने के लिये कहा है । टीम में अंतिम दिन जिला अस्पताल में निरीक्षण किया गया। इस दौरान टीम ने ओपीडी में आये मरीजों से चिक्त्सिकों द्वारा किये जा रहे उपचार के बारे में पूछताछ करने के बाद अस्पताल के विभिन्न विभागों का निरीक्षण किया।व्यवस्था के प्रति टीम काफी सन्तुष्टï दिखायी दी।  
  डब्लूएचओ की टीम जिले में पोलियो व डिप्थीरिया की जांच कर रही  है। टीम १५ नवम्बर को जिले में आयी थी। टीम में अटलांटा अमेरिका से आयी डा हेनरी, तथा नयी दिल्ली से डा अरूण कुमार के साथ टीम के अन्य सदस्य स्वास्थ्य सेवाओं की जांच पडताल करने में जुटे है। टीम ने अभी तक सीएचसी, दौराला, हस्तिनापुर के साथ मेडिकल अस्पताल में ईएनटी,बच्चाा वार्ड की सघन जंाच की। इसके अर्बन पीएचसी नगलाबटटू, लखीपुरा ,राजेन्द्र नगर, का  निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान ३३ बच्चे डिप्थारिया के शिकार मिले । जिनके परिजनों ने पोलियों का टीकाकरण नहीं कराया था। टीम के सदस्यों ने बताया डिप्थारिया के मरीज को समय पर उपचार मिल जाय तो एक सप्ताह में इससे छूटकारा मिल सकता है। मंगलवार को टीम के सदस्यों ने प्यारेलाल अस्पताल  में स्वास्थ्य सेवाओ का जायजा लिया।  टीम के सदस्यों ने सीएमओ कार्यालय में सीएमओ डा राजकुमार ,जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा प्रवीन गौतम ,डा पूजा शर्मा, डा एसएस चौधरी से स्वास्थ्य सेवाओ पर विचार विमर्श किया।
डिप्थीरिया के बने अलग से वार्ड
 डब्यूएचओ टीम ने डिप्थीरिया पर नियत्रण पर विशेष फोकस किया। उन्होंने मेडिकल कालेज के प्रचार्य डा आरसी गुप्ता से डिप्थीरिया का अलग से वार्ड खुलवाने के लिये कहा। प्रचार्या ने स्टाफ की कमी बतायी और कहा कि स्टाफ पूरा होने पर नया वार्ड बनाया जाएगा। पाक में डिप्थीरिया व पोलियो अब भी बरकरार
 जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा प्रवीन गौतम ने बताया मेरठ समेत भारत के कई शहरों में पाकिस्तान से अपने रिश्तेदारों के पास आने वालों की तादात काफी है। इस कारण डब्यूएचओ की टीम पोलियो मुक्ति के अभियान को नये सिरे से धार देने में लगा हुआ है। उन्होनें माना कि पंजाब  के करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद पाकिस्तान में आवाजाही बढेगी।